1 फरवरी को 92 साल पुरानी परंपरा को तोड़ने जा रही है मोदी सरकार

नई दिल्‍ली: मोदी सरकार फरवरी में 92 साल पुरानी परंपरा को तोड़ने जा रही है। ऐसा करके केंद्र सरकार इतिहार रचेगी। मोदी सरकार इस साल 1 फरवरी को आम बजट2017 पेश करेगी।

बजट सेशन का पहला चरण 31 जनवरी से 9 फरवरी के बीच चलेगा। साथ ही, 31 जनवरी को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की ओर से इकोनॉमिक सर्वे पेश किया जाएगा।

1 31 जनवरी को आएगा आम बजट2017 का इकोनॉमिक सर्वे

2 सरकार ने पहली बार 1 फरवरी को बजट पेश करने का फैसला किया है।

3 इससे पहले फरवरी के आखिरी दिन बजट पेश किया जाता रहा है।

4 सरकार ने नया फाइनेंशियल ईयर शुरू होने से पहले बजट से जुड़ी सभी प्रक्रिया पूरी करने का फैसला किया है।

5 पहली बार आम बजट के साथ पेश होगा रेल बजट
6 करीब 92 साल बाद यह पहला मौका होगा जब रेल बजट अलग से पेश नहीं किया जाएगा।

7 केंद्रीय कैबिनेट पहले ही रेल बजट के आम बजट में विलय की मंजूरी दे चुका है। हालांकि, सरकार ने यह भी कहा है कि रेलवे की स्वायतता पहले की तरह बरकरार रहेगी।

8 अब रेलवे के आय-व्यय का ब्योरा आम बजट 2017-18 का ही हिस्सा होगा।

9 सरकार ने रेल बजट के विलय का फैसला नीति आयोग के सदस्य विवेक देबरॉय की अध्यक्षता वाली समिति की सिफारिश पर किया था।

10 सितंबर में मिली थी सैद्धांतिक मंजूरी