हम वन्देमातरम का दिल से सम्मान करते हैं: बसपा सुप्रीमो

हम वन्देमातरम का दिल से सम्मान करते हैं: बसपा सुप्रीमो

मायावती ने वंदे मातरम के अपमान को लेकर सफाई देते हुए कहा कि हम भी राष्ट्रगान और वंदेमातरम का पूरा आदर और सम्मान करते हैं। देशहित हमारी सबसे पहली प्राथमिकता है।



बसपा प्रमुख की यह सफाई मेरठ और अलीगढ़ नगर निगमों में नवनिर्वाचित मेयर व पार्षदों के शपथ ग्रहण समारोह में वंदेमातरम गान को लेकर हुए बवाल पर काफी किरकिरी होने के बाद आई है। बुधवार को बयान जारी कर मायावती ने वंदे मातरम पर हो रहे बवाल पर अपना रुख रखा। उन्होंने कहा कि अगर गान के समय मेरठ की मेयर सुनीता वर्मा स्वयं खड़ी नहीं हो पायीं तो अधिकारियों को उन्हें बताना चाहिए था। बहुजन समाज पार्टी हमेशा राष्ट्र की परम्पराओं का पालन करती है। लोकसभा और विधानसभा में राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत की परंपरा का कभी विरोध नहीं किया वरन पूरी तरह से उनका पालन सुनिश्चित किया है।



मेयर व पार्षदों के शपथ ग्रहण समारोह में वंदेमातरम गान की परंपरा का भी बसपा पालन करती है परंतु समारोह संचालन कानूनी तौर से अधिकारियों द्वारा शांतिपूर्वक होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मेरठ और अन्य स्थानों में शपथ ग्रहण समारोहों में भाजपा ने माहौल बिगाड़ा। अधिकारियों को कानून के हिसाब से समारोह संचालित नहीं करने दिया गया और बसपा विरोधी नारे भी लगाए गए। आपको बता दें कि मेरठ में नवनिर्वाचित सभासदों और मेयर्स के सपथ ग्रहण समारोह का कार्यक्रम आयोजित हुआ था। वंदे मातरम का गाना बजा उसके बाद भी सुनीता वर्मा नहीं उठीं। इसी बात को लेकर बसपा और भाजपा के सभासदों में घमासान हो गया। भाजपा के सभी सभासद नवनिर्वाचित मेयर के वन्देमातरम् के दौरान बैठे रहने पर नाराज हुए। दोनों दलों में काफी बहस बाजी हुयी और मुद्दा प्रदेश में छाया रहा।

loading...

Comments

comments