युवराज ने याद दिलाई वो पारी, जब 6 बॉल पर मारे थे 6 छक्के

नई दिल्ली: युवराज सिंह की ने भारत और इंग्लैंड के बीच हो रहे तीसरे टी-20 क्रिकेट मैच के 18वें ओवर में 2007 के टी-20 वर्ल्ड कप में खेली गई अपनी आतिशी पारी की याद दिला दी. मैच में 18वां ओवर क्रिस जॉर्डन फेंक रहे थे.

जॉर्डन की पहली गेंद पर महेन्द्र सिंह धोनी ने एक रन लेकर अपने टी-20 करियर का पहला अर्धशतक लगाया. आपको बता दें कि यह उपलब्धि उन्होंने 76वें मैच में हासिल की. धोनी के अर्द्धशतक के बाद दूसरी गेंद पर युवराज ने धुआंधार पारी खेलते हुए अगले पांच ओवरों में 23 रन भारतीय खाते में जोड़े. युवराज ने जॉर्डन की दूसरी और तीसरी गेंद पर छक्के जड़े. चौथी गेंद पर हैट्रिक के शोर के बीच चौके से ही संतोष करना पड़ा. हालांकि जॉर्डन ने भी यह गेंद थोड़ी धीमी गति से डाली थी. ओवर की पांचवी गेंद, जिसे जॉर्डन यॉर्कर मारना चाहते थे, पर युवराज सिंह ने लॉग ऑन पर छक्का जड़ दर्शकों की धड़कनें तेज कर दीं.

ओवर की आखिरी गेंद पर युवराज ने एक रन लेकर अगले ओवर के लिए स्ट्राइक अपने पास रखने की कोशिश की. युवराज सिंह ने इस मैच में 10 गेदों पर कुल 27 रन बनाए. खास बात यह रही कि इसमें से 23 रन सिर्फ पांच गेदों पर एक चौके और तीन छक्कों की मदद से बने. युवराज का स्ट्राइक रेट 270.00 रहा. आपको बता दें कि युवराज ने 6 गेंदों पर 6 छक्कों वाली आतिशी पारी भी इंग्लैंड के खिलाफ ही खेली थी

इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में युवराज सिंह और महेंद्र सिंह की पुरानी जोड़ी ने दर्शकों को बेहतर क्रिकेट दिखाई. इसी मैच में युवराज ने अपना सर्वोच्च स्कोर (150) खड़ा किया. जबकि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वनडे करियर का 10वां और इंग्लैंड के खिलाफ पहला शतक लगाया. वे 134 रन बनाकर पविलियन लौटे. 3 साल बाद टीम में वापसी करने वाले युवराज सिंह और हाल ही में कप्तानी की जिम्मेदारी से मुक्त हुए धोनी ने इंग्लैंड के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की थी. धोनी ने 122 गेदों में यह पारी खेलते हुए 10 चौके और 6 छक्के जड़े थे. जबकि युवराज ने युवराज ने अपनी इस तूफानी पारी में 21 चौके और 3 छक्के लगाए थे. उन्होंने 150 रन महज 127 गेंदों पर बनाए थे.