मुलायम के छोटे बेटे की बहू ने आरक्षण पर दे डाला ऐसा बयान, उड़ गए पार्टी के होश…

लखनऊ: देश के सबसे बड़े राजनीतिक परिवार की सबसे छोटी बहू अपर्णा यादव ने चुनाव के मौसम में ऐसा विवादास्पद बयान दे दिया है, जिससे समाजवादी पार्टी में भूकंप आ गया है।

मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा सपा के टिकट पर लखनऊ कैंट से चुनाव लड़ रही हैं। उन्होंने बड़ी बेबाकी से कहा है कि जाति आधार पर आरक्षण नहीं दिया जाना चाहिए। उन्होंने एक वेबसाइट को दिये इंटरव्यू में कहा कि मैं जाति नहीं बल्कि आर्थिक आधार पर आरक्षण दिए जाने के पक्ष में हूं। उन्होंने कहा कि क्या बड़ी जातियों में गरीब लोग नहीं होते हैं। जो पहले से ही आर्थिक रुप से समृद्ध हैं, उन्हें आरक्षण देने की क्या जरूरत है।

अपर्णा के इस बयान के बाद समाजवादी पार्टी में हड़कंप मच गया है। दरअसल समाजवादी पार्टी की विचारधारा आरक्षण के मुद्दे पर बिल्कुल स्पष्ट रही है। समाजवादी पार्टी हमेशा पूरी तरह से सामाजिक आधार पर आरक्षण दिए जाने के पक्ष में रही है। मुलायम सिंह यादव की राजनीति का पूरा केंद्र भी आरक्षण के इर्द-गिर्द ही घूमता रहा है। शायद यही वजह है की अपर्णा सिंह के बयान के बाद तत्काल समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी को सामने आना पड़ा। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी पूरी तरह से सामाजिक आधार पर आरक्षण दिए जाने के पक्ष में है। उन्होंने संविधान का हवाला देते हुए कहा कि संविधान की भी यही मंशा है कि सामाजिक आधार पर ही आरक्षण दिया जाए। उधर अपर्णा यादव ने कहा कि भले ही मैं यादव परिवार से हूं लेकिन मेरा परिवार आर्थिक रुप से समृद्ध है। इसलिए मेरी बेटी को आरक्षण नहीं मिलना चाहिए। हालांकि उन्होंने कहा कि यह मेरा निजी मत है। इसे पार्टी की विचारधारा से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। विधानसभा चुनाव के इस मौसम में अपर्णा के इस बयान को लेकर कई तरह के माइने निकाले जा रहे हैं।

अपर्णा ने यह स्पष्ट किया कि जब मैं ग्यारहवीं कक्षा में पढ़ रही थी तभी मैंने एंटी रिजर्वेशन कैंपेन के समर्थन में भाषण दिया था। यह बात 2004 की है तब मैं ग्यारहवीं कक्षा में राजनीति विज्ञान की छात्रा थी। जब उनसे यह बात की गई कि आपने आरक्षण पर इस तरह का बयान देकर आपको आफत मोल नहीं लेनी चाहिए। इस पर उनका यह कहना था कि मैं एक स्ट्रेट फॉरवर्ड लड़की हूं और मैं इसी तरह की बातों के लिए जानी जाती हूं। मैं जानती हूं कि मैं क्या कह रही हूं। जो कुछ भी मैंने कहा, उस पर मैं कायम हूं और आगे भी कायम रहूंगी। अब अपर्णा यादव के इस तरह के बयान के बाद समाजवादी विचारधारा के लोगों में बड़ी हलचल मच गई है। देखना है उनका ये बयान यूपी चुनाव में कितने मत प्रतिशत को इधर-उधर कर सकता है।