पूर्व सांसद शहाबुद्दीन को जल्दी ही सिवान जेल से तिहाड़ भेजा जाएगा

पूर्व बाहुबली सांसद मो.शहाबुद्दीन को सिवान जेल से तिहाड़ भेजने व बिहार से मुकदमा दिल्ली में ट्रांसफर करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज फैसला सुना दिया है. सुप्रीमकोर्ट ने इस मामले में अपना फैसला सुनाते हुए कहा है कि बिहार सरकार शहाबुद्दीन को जल्द से जल्द बिहार से बाहर दिल्ली तिहाड़ जेल भेजने का प्रबंध करे.

मो.शहाबुद्दीन को सिवान जेल से तिहाड़ भेजने व बिहार से मुकदमा दिल्ली में ट्रांसफर करने के याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों की दलीलें सुनने के उपरान्त इस मामले में अपना फैसला 17 जनवरी को सुरक्षित रखा था आशा रंजन के वकील किसलय पांडेय के अनुसार मो.शहाबुद्दीन को सिवान से तिहाड़ भेजने के मामले में सुनवाई के दौरान कुछ तथ्यों से समबन्धित कागजात नहीं जमा कराया गया था एक सप्ताह के भीतर ही कागजात को कोर्ट में जमा कर दिया गया. सिवान के पत्रकार राजदेव रंजन के हत्या के मामले में राजदेव की पत्नी पत्नी आशा रंजन और तेजाब व गवाह हत्याकांड में मृतक रौशन के पिता चंद्रकेश्वर प्रसाद (चंदा बाबू), दोनों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर शहाबुद्दीन को सिवान जेल से स्थांतरित करने और शहाबुद्दीन के मुकदमों को भी दिल्ली स्थानांतरित को लेकर गुहार लगाईं गई थी.

दायर याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले के दौरान लगातार तीन दिनों तक सुनवाई किया था और बिहार सरकार तथा शहाबुद्दीन के वकील को पूछा था कि क्यों न शहाबुद्दीन को दिल्ली भेज दिया जाए. जवाब में बिहार सरकार ने कहा था कि उसे कोई ऐतराज नहीं है जबकि शहाबुद्दीन के तरफ से यह कहा गया था कि एक जगह से दुसरे जगह भेजने का अधिकार सिर्फ राज्य सरकार का है. पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन पर पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड और चर्चित तेजाब कांड के अलावे उन पर दो दर्जन संगीन आरोप है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *