नीतीश कुमार ने भी मोदी से पूछा नोटबंदी से कितना कालाधन वापस आया?

आज लेफ्ट नेता सीताराम येचुरी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की. इन नेताओं ने उत्तरप्रदेश चुनावों में नरेंद्र मोदी और बीजेपी को रोकने के लिए दोनों दलों के साथ आने पर चर्चा की. सूत्रों का कहना है कि बातचीत राष्ट्रीय राजनीति में मंथन की प्रक्रिया की शुरूआत है.

सूत्रों के मुताबिक, पता चला है कि 30 मिनट की बैठक में लेफ्ट महासचिव के साथ नोटबंदी पर अपने रुख की चर्चा की. नीतीश ने कहा कि वह काले धन के खिलाफ हैं लेकिन जिस तरीके से नोटबंदी की गई उससे वह सहमत नहीं हैं. ऐसी कवायद से लक्ष्यों को हासिल नहीं किया जा सका. पार्टी के वरिष्ठ नेता के सी त्यागी के साथ लेफ्ट मुख्यालय पहुंचे नीतीश ने शुरूआत में 1000 रूपये और 500 रूपये के नोटों को बंद करने का बचाव किया था.

यह पूछे जाने पर कि बैठक में क्या बातचीत हुई, नीतीश ने कहा कि यह एक शिष्टाचार मुलाकात थी. उन्होंने कहा, ‘हमने पहले मुलाकात की योजना बनायी.’ सूत्रों ने बताया कि दोनों नेताओं ने देश को बचाने के लिए मोदी और बीजेपी को रोकने के लिए चर्चा की. इसी के साथ समान सोच वाली पार्टियों के साथ आने की जरूरत पर जोर दिया.

वहीं दिल्ली में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की बुक लॉन्च के मौके पर भी नीतीश कुमार ने पीएम मोद को आड़े हाथों लिया. नीतीश कुमार ने पूछा नोटबंदी से कितना कालाधन वापिस आया? इसी के साथ नीतीश कुमार ने मनमोहन सिंह की ऐतिहासिक भूल की बात को भी सही बताया. नीतीश कुमार ने कहा ‘अभी हिन्दुस्तान की जरुरत है एकजुट विपक्ष की, विपक्ष एकजुट होना चाहिए.

loading...

Comments

comments