दलाई लामा ने भारतीय मुसलमानो के लिए दिया बेहतरीन बयान, जानिए…

शनिवार को सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी पहुंचे दलाई लामा ने कहा कि इस्लाम दुनिया के कई हिस्सों में प्रचलित है, लेकिन यह स्थानीय संस्कृति को स्था से हमे पता चलता है कि इस्लाम कितना सहज है.

उन्होंने कहा कि भारतीय मुसलमान अपने समकक्षों की तुलना में अधिक शांतिपूर्ण है क्योंकि वे अधिक विविध सांस्कृतिक समाज में शामिल हैं. उन्होंने आगे कहा, “देश या क्षेत्र सांस्कृतिक विरासत में एक बड़ी भूमिका निभाता है. उदाहरण के लिए, चीन या अन्य पड़ोसी देशों के मुसलमानों के विपरीत, भारत में अन्य धर्मों के लोगों के साथ शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्वक रहते हैं. उन्होंने कहा, यह एक ही धर्म है लेकिन इनके देश की संस्कृति ने इन्हें अलग बनाया है.

उन्होंने अधिक समावेशी समाज का आह्वान किया जहां विभिन्न धर्मों के लोग एक दूसरे से परस्पर सम्मान के साथ रहते हैं. उदाहरण के लिए, मध्य पूर्व जैसे स्थानों में, लोगों ने अन्य धर्मों के साथ कोई नहीं संपर्क किया है. यह केवल उस समय संभव होता हैं जब विभिन्न धर्मों के आपस में मिलना से सहिष्णुता लोकाचार का हिस्सा बन जाता है और विभिन्न धर्मों के लोगों को सद्भाव में रहते है. नोबेल शांति पुरस्कार विजेता ने कहा कि दया बेहद जरूरी हैं और मानवता हमेशा सब से पहले पहले आनी चाहिए बाकी सब बाद में. आपको बता दें की कार्यक्रम में 139 आईपीएस एवम् भूटान, नेपाल और मालदीव्स के 15 ट्रेनी अधिकारी मौजूद रहे.