केंद्रीय मंत्री ने के फिल्म ‘पद्मावती’ के बहाने पैगम्बर साहब के लिए दिया विवादित बयान

नई दिल्ली: भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन के बीच केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इसे धर्म का रंग देने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि रानी पद्मिनी को इसलिए गलत दिखाया जा रहा है क्योंकि वह एक हिंदू थीं। फिल्मकारों में इतनी हिम्मत नहीं होगी कि वे पैगंबर मुहम्मद पर कोई फिल्म बनाकर दिखाएं।

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि ऐसे लोग देश के इतिहास से खिलवाड़ कर रहे हैं और उन्हें सजा दी जानी चाहिए। यह दुर्भाग्य है कि लोग खादी ग्रामोद्योग बोर्ड की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत में गिरिराज सिंह ने कहा, ‘जो लोग देश के इतिहास से खेल रहे हैं उन्हें जरूर सजा दी जानी चाहिए। उनमें पैगंबर को लेकर फिल्म बनाने का साहस नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘यह देश का दुर्भाग्य है कि यहां औरंगजेब, टीपू सुल्तान को लोग आइकन मानने लगे हैं। देश के इतिहास के साथ खिलवाड़ करके। पद्मावती का जिस तरह चित्रण किया गया है अगर वो हिंदू न होतीं तो कोई न करता।’ गिरिराज सिंह नवादा से बीजेपी सांसद हैं और केंद्रीय राज्य मंत्री भी हैं।

गिरिाज सिंह ने कहा, ‘जिसने भी भारत के इतिहास के साथ खिलवाड़ किया है, भारत की मान मर्यादा से खेला है, जनता को निश्चित तौर पर उसे सजा देनी चाहिए। पद्मावती ने अपने आप को मिटा दिया लेकिन मुगलों के आगे घुटने नहीं टेके।’ उन्होंने कहा कि हिंदू देवी देवताओं पर एक के बढ़कर एक टिप्पणी फिल्म पीके में की गईं लेकिन किसी की हिम्मत हुई है कि मोहम्मद साहब के खिलाफ फिल्म बना दे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह जनता की भावना से जुड़ा मुद्दा है, जो जल्द इस पर फैसला लेगी।