उमराह करने के लिए पहुँचा ‘क़तर’ का यह चमत्कारिक बच्चा, शेयर किया विडियो, आप भी देखए

गनिम कौडल रिग्रेशन सिंड्रोम के साथ पैदा हुआ था, यह एक दुर्लभ बीमारी है जिसमें निचली रीढ़ के विकास में रुकावट होती है। क़तर की जानकारी गाइड, मरहबा के मुताबिक अपनी शारीरिक विकलांगता के बावजूद इस बच्चे ने बहुत नाम कमाया है, इसने खुद एक चैरिटी, एक स्पोर्ट्स क्लब और एक आइसक्रीम शॉप की स्थापना की है।

‘चमत्कारी बच्चे’ गनिम अल मिफताह उमराह करने के लिए मक्का पहुँच गया है। उसने अपने शुभचिंतकों और पवित्र मस्जिद के इमाम शेख माहेर अल मेइक्ली के सामने उमराह करने की इच्छा ज़ाहिर की थी। सोशल मीडिया साईट पर बच्चे की उमराह करते हुए और मस्जिद के इमामों से मुलाक़ात करते हुए कई विडियो साझा की गयी हैं। “अल्लाह ने मेरी दुआओं को सुन लिया है और मैंने अपने हाथों की मदद से काबे का तवाफ़ किया और उमराह किया,” 15 वर्षीय बच्चे ने कहा, जिसे गल्फ मिरेकल और बचपने का कतरी राजदूत भी कहा जाता है।

loading...

Comments

comments