अभिनेता कमल हासन: अगर जानवरो के खेल से परेशानी है तो बिरयानी से भी परेशानी होनी चाहये, पढ़िए पूरा मामला

अभिनेता कमल हासन ने जल्लीकट्टू का समर्थन करते हुए कहा है कि अगर ऐनिमल ऐक्टिविस्ट जल्लीकट्टू से इतने बेचैन हैं तो उन्हें एक कदम और आगे जाना चाहिए और बिरयानी को भी बैन करवा देना चाहिए। खबर अनुसार हासन ने कहा कि – ” मैंने यह खेल खेला है। मैं कुछ उन गिने-चुने कलाकारों में से हूं जो यह दावा कर सकते हैं कि उसने सांड को गले लगाया है।

मैं एक तमिल हूं और इस खेल को पसंद करता हूं। ” उन्होंने कहा कि – ” जल्लीकट्टू सभ्यता का अभिन्न अंग है। अगर जल्लीकट्टू को बैन करना है तो बिरयानी को भी बैन करो। ” उल्लेखनीय है कि साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा फसलों और खेती के उत्सव के दौरान खेले जाने वाले इस खेल को प्रिवेंशन ऑफ क्रूअलटी टू ऐनिमल ऐक्ट के तहत बैन कर दिया था। बता दें कि नवंबर 2016 में सुप्रीम कोर्ट ने कुछ ऐनिमल राइट्स ऑर्गनाइजेशन की अपील पर इस खेल को बैन करने के लिए तमिलनाडु की रिव्यू पिटिशन को खारिज कर दिया था। हिन्दू संगठनों ने भी कमल हासन को समर्थन देते हुए कहा है कि जानवरों का खेल प्रतिबन्ध हो सकता है तो जानवरों को मारकर खाना भी बैन होना चाहिए।

loading...

Comments

comments